6 वर्ष की मासूम से दरिंदगी करने वाले को हो फांसी: उमा भारती

भोपाल। मध्यप्रदेश के दमोह जिले में एक छह साल की मासूम से दरिंदगी की घटना ने पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती को व्यथित कर दिया है। उन्होंने दोषी व्यक्ति को फांसी देने की मांग की है।
जबेरा थाना क्षेत्र के गांव वंशीपुर में सरपंच के बेटे ने टॉफी के लालच में एक छह साल की मासूम को खंडहर में ले जाकर उसके साथ ज्यादती की और आंखों को उंगली से क्षतिग्रस्त करने के बाद हाथ-पैर बांध कर वहीं छोड़ दिया। घटना से क्षेत्र में आक्रोश फैल गया। पुलिस ने एसआईटी बना आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मध्यप्रदेश के डीजीपी विवेक जौहरी के अनुसार बच्ची की दोनों आंखें खराब करने की बात अफवाह है। बच्ची को गम्भीर हालत में जबलपुर में इलाज के लिए भेजा गया है।
इस घटना को लेकर उमा भारती ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से कहा कि इस मामले को फास्टट्रैक कोर्ट में ले जाकर आरोपी को जल्द से जल्द फांसी की सजा होनी चाहिए।
उमा भारती ने कहा कि जिला दमोह में एक बालिका के साथ जो अमानवीय कृत्य हुआ वह इतना भयानक दुखद है कि इस पर टिप्पणी करने के लिए भी हिम्मत चाहिए। इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लेकर अपराधी को फांसी होनी चाहिए।
एक मानव शरीर में पैदा हुआ व्यक्ति ऐसा जघन्य कृत्य कैसे कर सकता है यह बहुत ही चिंता एवं भय की बात है। हमारे प्रदेश मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर फांसी की सजा का प्रावधान है फिर भी ऐसा अपराध करने वाले को भय क्यों नहीं लगा यह चिंता का विषय है। मुझे मिली जानकारी के अनुसार इस नन्ही बेटी की सांस अभी चल रही है मैं उसके स्वस्थ एवं कुशल रहने की भगवान से प्रार्थना करती हूं एवं उसकी नेत्र ज्योति की वापसी के लिए भी हम सबको मिलकर कोई रास्ता सोचना चाहिए। मैं इस घटना से बहुत ही विचलित एवं स्तब्ध हूं।

Leave a Reply